Skip to content

चमत्कार! Doctors द्वारा घोषित, गर्भ के मृत बच्चा को, बाबा करौली सरकार द्वारा जीवित किया गया।

सुनकर और पढ़कर बहुत आश्चर्य लग रहा होगा कि मृत बच्चा पुनः जीवित कैसे हो सकता है लेकिन बाबा करौली शंकर महादेव जी अपनी शक्तियों द्वारा, डॉक्टर द्वारा घोषित गर्भ के मृत बच्चा को जीवित किया गया। ये किसी चमत्कार से कम नहीं है।

सनातन संस्कृति के गुरु परंपरा के एक सिद्ध गुरु है “करौली सरकार”। बाबा अपना दरबार उत्तरप्रदेश के कानपुर नामक शहर में लगाते है। बाबा के दरबार का नाम है “करौली शंकर महादेव”। बाबा रोगी/फरियादी से करीब 20 फीट की दूरी पर एक सुंदर सा आसान पर विराजमान रहते है। सामने मैक लगी रहती है। उसके बाद एक घेरा होता है ताकि फरियादी डायरेक्ट बाबा के पास नहीं जा सके। फरियादी को भी एक मैक दिया जाता है ताकि बाबा और फरियादी के साथ उपस्थित सारे लोग इस चिकित्सा प्रक्रिया को सुन सके, जान सके।

Baba karauli shankar mahadev
रोगी की बातो को सुनते बाबा करौली सरकार @youtube/sanatan prahari rewa

दुखों और कष्टों से पीड़ित “स्त्री – पुरुष, गरीब – अमीर” सभी तरह के लोग बाबा के दरबार में आते है। दरबार में प्रवेश कर, दरबार के नियम कानून को विधिवत पालन कर, यज्ञ – हवन आदि करते है। उसके बाद बाबा से मुलाकात करते है। लोग, अपने और अपने प्रिय जनो के कष्टों के बारे में बाबा को बताते है और बाबा उसके कष्ट को खत्म कर देते है।

इसी फरियादियों में से एक फरियादी की कहानी मैं आपसे शेयर कर रहा हूं। फरियादी के रूप में एक मां है जो अपने बच्चे के लिए बाबा के पास आई है। आइए जानते हैं विस्तार से।

एकबार एक नवविवाहित स्त्री बाबा के सामने आई। प्रणाम आदि करने के बाद रोने लगी। रोते – रोते उन्होंने बाबा जी से कहा कि मेरे बच्चे की मौत गर्भ में ही हो जाती है। इसके लिए मैने एलोपैथिक डॉक्टर से दिखलाया है लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ। ऐसा दो बार हो चुका है। मेरा गर्भ में पलने वाला ये तीसरा बच्चा है। इसे भी डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया है और अगले गुरुवार को इसे ऑपरेशन द्वारा गर्भ से बाहर निकलने की बात कही है। Doctor का कहना है कि यदि मैने इसे बाहर नही निकाला तब इन्फेक्शन फैल सकता है और मुझे भी नुकसान हो सकता है चुकी अब बच्चे के शरीर में सड़न शुरू हो जाएगी।

बाबा सारे समस्या को समझकर सनातन प्रक्रिया से आध्यात्मिक शक्तियों का उपयोग कर चिकित्सा शुरू करते है। नवविवाहिता को अपने स्थान पर जमीन पर लेटने बोलते है और उस हिस्सा पर हाथ रखने बोलते है जहां पर दर्द का अहसास हो रहा था। नवविवाहिता कुछ देर तक आंख उसी अवस्था में लेती रहती है। बाबा अपने आध्यामिक शक्तियों का प्रयोग कर इस धरा के सुप्रसिद्ध चिकित्सक रहे “सुश्रुत” से सूक्ष्म शरीर का ऑपरेशन करवाते है और गुरु कृपा से बच्चे की हार्ट बीट पुनः चालू करवाते है। उसके बाद बाबा उस दुखहारी मां को बच्चे की हार्ट बीट को महसूस करने के लिए बोलते है लेकिन मां को बच्चे की हार्ट बीट महसूस नहीं होती है तब बाबा उसे बोलते है कि पहले करवट लेकर उठो। 10/15 कदम चलो उसके बाद बच्चे की हार्ट बीट महसूस करो। एकदम से चमत्कार होता है “रोगी मां महसूस करती है कि उसके बच्चे की हार्ट बीट चल रही है।” ऐसा महसूस होते ही वो अतिप्रसन्न हो जाती है और दोनो आंखो से आसुओ की धारा बह निकलती है। वो अपने आंसू को नहीं रोक पा रही थी क्योंकि उसने अबतक दो बच्चे खो चुके है यदि बाबा के पास नहीं आती तब तीसरा बच्चा भी खो देती। परिवार, समाज के लोग उसे ताना मारते कि कैसी स्त्री है, गर्भ में ही बच्चा को मार देती है।

एक मां के लिए इससे बड़ी बात क्या हो सकती है उसके बच्चे को एक नई जिंदगी मिल गई। मरा हुआ बच्चा जिंदा हो गया। बच्चा के साथ – साथ शरीर, स्वास्थ्य, धन और सम्मान आदि सबकुछ मिला यह एक बहुत बड़ी बात है। इसी अनमोल धन के पाने के कारण दुखी मां का आंसू रुक नही रहे थे। अब वो बहुत खुश थी और बाबा को बारंबार आशीर्वाद दे रही थी।

बाबा ने बताई बच्चे को लेकर आश्चर्यजनक बातें

बाबा अपने स्थान पर बैठे – बैठे बच्चे सहित पूरे गर्भ का एक तस्वीर बनाए और उसे दिखहारी मां को देखते हुए बोला कि तुम्हारी गर्भ की स्तिथि अभी ऐसी है।

उपचार से पहले रोगी मां के गर्भ सहित बच्चे की स्तिथि @youtube/sanatan prahari rewa

उसके बाद बाबा दूसरी तस्वीर बनाए जिसमे उन्होंने दिखाया कि आपके शरीर के गर्भ में सूक्ष्म रूप से दुष्टों का वास है जो बच्चे को हाथ के नाखूनों से नोच – नोच कर खाते थे जिसके कारण बच्चे का मौत गर्भ में ही हो जाता था।

उपचार के पहले गर्भ में बच्चे की स्तिथि
@youtube/sanatan prahari rewa

बच्चे के बारे में ऐसा सुनकर, सारे लोग स्तंभित हो गए और पीड़ित मां फिर से रोने लगी।

लेकिन बाबा जी ने फिर एक तस्वीर बनाई और जिसमे बच्चे और वर्तमान गर्भ की स्तिथि का चित्रण था। बाबा बताए कि अब बच्चा गर्भ में उचित तरीके से रह रहा है। बच्चा पूर्णरूप से स्वस्थ और सुरक्षित है इसे अब कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकता क्योंकि इसके ऊपर बाबा गुरु की निगरानी है।

बाबा द्वारा उपचार के बाद बच्चे का स्वस्थ शरीर का तस्वीर @youtube/sanatan prahari rewa

बाबा श्री करौली शंकर महादेव जी का एड्रेस और कॉन्टैक्ट नंबर

करौली शंकर महादेव आश्रम, कानपुर, उत्तर प्रदेश। व्हाट्सएप नंबर : 9839861919

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *