Skip to content

बाबा करौली शंकर महादेव: मात्र रुद्राभिषेक हवन देखने से बच्ची हुई असाध्य रोग से मुक्त

बाबा करौली शंकर महादेव (BABA KARAULI SHANKAR MAHADEV) के दरबार में घटित एक और अद्भुत घटना के बारे में मैं आज आपको बताने जा रहा हूं। आपको सुनकर/देखकर विश्वास नहीं होगा कि आज के समय में, क्या ऐसा भी हो सकता है। शायद ऐसी घटना को आप कहानी आदि में सुने होंगे लेकिन मैं आपसे साझा करने जा रहा हूं एक हकीकत घटना जो बाबा करौली सरकार के दरबार में घटा। यह घटना सनातन संस्कृति की असीम शक्ति और संभावना को अपने अंदाज में Represent करता है।

BABA KARAULI SHANKAR MAHADEV
BABA KARAULI SHANKAR MAHADEV @Youtube

बच्ची के असाध्य रोग से मुक्त होने की घटना; विस्तार से।

बाबा करौली शंकर महादेव के दरबार में “श्वेता यादव” नामक बच्ची अपने पिता के साथ बाबा के दरबार में पहुंची। पिता और पुत्री दोनो कई गंभीर बीमारियों से पीड़ित थे। बच्ची को दरबार में बाबा के सामने लाया गया। तब बच्ची श्वेता यादव मैक के पास जाकर बाबा को सादर प्रणाम किया और अपने बारे में बताना शुरू किया।

उन्होंने बताया कि मुझे Stone की समस्या थी। मेरा पेट में Stone बनता था। मैने इसकी Surgery पहले भी करवाया था। डॉक्टर साहब आदि ने बहुत मुश्किल से हमारी सर्जरी की उसके बाद लाभ तो मिला किंतु पुनः स्टोन बन गया। इसबार मैने ऑपरेशन कराने के बजाय दरबार आना पसंद किया और पिताजी के साथ दरबार आया और दरबार की पूरी प्रक्रिया मतलब हवन आदि सब पूरा किया।

श्वेता यादव अपने पिताजी के साथ बाबा के दरबार में @youtube

पूरा करने के बाद, मैं ऐसे ही बाबा – मां का नाम जप कर रही थी तभी मैंने देखा कि बाबा शिवशंकर के लिए रुद्राभिषेक हवन की तैयारी हो रही है। मैं भगवान शिव के नाम जाप के साथ – साथ रुद्राभिषेक हवन को देखने लगी। जब हवन शुरू हुआ तभी मेरा पेट भी दर्द शुरू हो गया जैसे ही हवन प्रक्रिया बीच में पहुंचा मेरा पेट का दर्द कभी तेज हो गया। मैने समस्या को बड़ी जानकर मां को आवाज लगाई लेकिन वो दर्द क्षणिक था। दर्द काफी तेज/पीड़ादायक था इसलिए जैसे ही दर्द समाप्त हुआ मुझे नींद आ गई और मैं वही सो गई। तभी मेरे परिवार वालो ने Notice किया कि यहां कुछ छोटे – छोटे पत्थर के टुकड़े पड़े है। नींद से जागने के बाद उन्होंने मुझे सारी घटना बताया और पत्थर के छोटे टुकड़े भी दिखाए। तभी मुझे अहसास हुआ कि ये सारे पत्थर, बाबा – मां की कृपा और रुद्राभिषेक हवन देखने की शक्ति से, दरबार द्वारा मेरे शरीर की सूक्ष्म ऑपरेशन द्वारा बाहर निकाल दिए गए है इसलिए मुझे इस भयंकर दर्द से गुजरना पड़ा। उसके बाद कभी Stone का दर्द मेरे पेट में नही हुआ।

रुद्राभिषेक हवन के लाभ और देश – विदेश से लोगो का आना

सनातन संस्कृति की उचित प्रक्रिया द्वारा हुए “रुद्राभिषेक हवन” को देखने मात्र से बच्ची “श्वेता यादव” की Stone शरीर से बाहर निकल गया। लेकिन इस प्रक्रिया में हवन देखने के साथ – साथ, बच्ची द्वारा की गई दरबार की सेवा भक्ति भी शामिल थी। उसके पुनः फल/यश से बाबा की कृपा हुई और बच्ची सारे कष्ट से दूर हो गई। यह एक अद्भुत लेकिन वास्तविक घटना बाबा के दरबार में गए। जिसे वहां उपस्थित लोगो ने देखा और सुना। इस घटना को बाबा के कार्यक्रम/दरबार के उपलब्ध वीडियो में भी देखा या सुना जा सकता है या इसके बारे में इस बच्ची से भी पूछा/जाना जा सकता है।

लोग बिना किसी ऑपरेशन आदि के सिर्फ सनातन संस्कृति की हवन प्रक्रिया द्वारा ठीक हो रहे है इसलिए बाबा का दरबार में, देश के कोने – कोने से लोग आ रहे है। हिंदू के साथ साथ मुस्लिम, ईसाई और बौद्ध आदि सब धर्म के लोग आ रहे है और सनातन प्रक्रिया को अपनाकर ठीक हों रहे है। इन लोगो के बारे में भी दरबार के उपलब्ध वीडियो में देखा जा सकता है।

विदेशों से अब लोगो का हुजूम आना शुरू हो गया है। विदेशो से विदेशी लोग आ रहे है जिन्होंने सनातन संस्कृति को कभी देखा या जाना नही। कारण है बीमारी का इलाज। वे लोग बीमार है और बीमारी का इलाज करवाना चाहते है इसलिए बाबा के दरबार में आते है और सनातन संस्कृति की प्रक्रिया को फॉलो करते हुए हवन करते है और ठीक होकर घर चले जाते है।

श्वेत यादव के साथ – साथ उसके पिताजी भी हुए रोग मुक्त

बच्ची श्वेता यादव अपनी बीमारी आदि के बारे बाबा करौली शंकर महादेव को बताती है। इसके साथ अपनी पढ़ाई -करियर आदि में, दरबार की कृपा से हुए लाभ के बारे में भी बताती है। वो कहती है BAD करने के बाद मुझे पढ़ाई छोड़ने का मन कर रहा था लेकिन तभी मैंने बाबा का स्मरण किया, दरबार आई। अब सब चीज ठीक हो गया और BAD की पढ़ाई भी पूरी हो गई।

फिर अपने पिताजी के बीमारियों के बारे में बताती है कि मेरे पिताजी के कंधे, गर्दन और पीठ आदि में बहुत दर्द रहता था लेकिन अब ये सारे दर्द दूर हो चुके है और पिताजी पूरी तरह से ठीक हो चुके है।

इस प्रकार बाबा करौली शंकर महादेव जी दरबार में ना सिर्फ श्वेता का स्वास्थ्य ठीक हुआ बल्कि उसका करियर के साथ साथ उसके पिताजी भी स्वस्थ्य हो गए।।

बाबा करौली शंकर महादेव का पता/एड्रेस:

दरबार नाम: करौली शंकर महादेव, कानपुर, उत्तरप्रदेश (भारत) Whatsapp Number:+91 9839861919

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *