Skip to content

Blog

Heart Problem Solved quickly ( ह्रदय में छेद की समस्या दूर करने का अचूक उपाय): Karauli Sarkar

Karauli Sarkar solved heart problem quickly as the patient said in this video.(रोगी के इस वीडियो से यह स्पष्ट होता है कि उसके हृदय में… Read More »Heart Problem Solved quickly ( ह्रदय में छेद की समस्या दूर करने का अचूक उपाय): Karauli Sarkar

Karauli Shankar Mahadev:विश्वास के गंगा नदी के जल पर चला बालक

सच्ची श्रद्धा – भक्ति, विश्वास और कठिन परिश्रम से अबोध बालक गंगा नदी के जल के ऊपर चल सका, दौड़ सका जबकि उसके गुरु जी, गंगा नदी में डुब गए।

Karauli Sarkar: विद्यार्थी नव्या कभी बैठ नही पाती थी, बाबा के दरबार में पहली बार बैठी/ रात में अकेले रहने का डर भी खत्म हुआ/ डॉक्टरों ने की, दो बार गलत सर्जरी.

करौली सरकार (Karauli Shankar Mahadev) के दरबार में नव्या कई सालो बाद पहली बार खुद से बैठी और उठकर चलने लगी। पेट की जलन, भूख ना लगना और रात की अंधेरी से डरने आदि की सारी समस्या बाबाजी मात्र 15 मिनट में दूर कर दिए।
जबकि डॉक्टरों ने काफी पैसा लेकर दो – दो रीढ़ की हड्डी की सर्जरी किया पर ठीक नही किया। समस्या ज्यों के त्यों बनी रही।

Karauli Shankar Mahadev: नेपाली दंपती पहुंचा करौली सरकार का दरबार/ पति – पत्नी में बढ़ा प्यार/ तलाक होने की सारी संभावना खत्म

बाबा करौली सरकार (Karauli Shankar Mahadev) सनातन की रक्षा के लिए संकल्पित है। सनातन संस्कृति के मानने वाले सभी लोगो पर बाबा, पुत्र के समान कृपा करते है चाहे वो भारत का हो या किसी विदेशी धरती का। वैसे अपनी – अपनी समस्याओं के मुक्ति के लिए, सभी धर्मो और विभिन्न देशों के लोग बाबा के पास आते है और खुश होकर वापस लौटते है। इसी सिलसिला में एक नेपाली दंपती भी अपना तलाक होने से बचाने के लिए, एक संबंधी के साथ बाबा के दरबार आए। मैं आज उन्ही दंपती की हकीकत कहानी आपको बताने वाला हूं कि किस प्रकार उनदोनो पति – पत्नी में फिर से प्यार कायम हो गया और वे लोग खुश होकर वापस लौटे।

नागराज के साथ सोता था पंजाबी/खुद भी बन जाता था नाग/जवानी हुआ बेकार, नही हुई शादी/आया करौली दरबार (Karauli Shankar Mahadev)

बाबा करौली सरकार (Karauli Shankar Mahadev) के दरबार में, अपनी तकलीफों से मुक्ति पाने के लिए, सभी धर्म के लोग आते है। दिल्ली के रहने वाले एक पंजाबी साहब भी आए थे। वो स्वयं भी नाग बन जाते थे। लोग उनसे डरते थे इसलिए लोग उनके करीब नही जाते थे। पढ़े लिखे होने के बावजूद शादी नही हो सकी। सब क्षमता होने के बावजूद कमा नही सके। इसके कारण जानने और निवारण के आए सनातन संस्कृति की सबसे बड़ा चिकित्सालय “करौली शंकर महादेव का दरबार”। जहां वे अपनी परेशानी और दर्द से हुए मुक्त। बाबा लोगो की समस्याएं को सनातन धर्म की विशाल शक्तियों के सही उपयोग द्वारा दूर करते है जिसे ईश्वरीय चिकित्सा कहा जाता है

Karauli Shankar Mahadev: सनातन संस्कृति छोड़कर, फैक्ट्री में बनाया पीर का मजार, दुष्ट पीर ने कराई तीन की अकाल मृत्यु। धन का भारी नुकसान।

मैं आज बाबा करौली सरकार (Baba Karauli Shankar Mahadev) के दरबार की एक ऐसी घटना सुनाने जा रहा हूं जिसे देखकर आपको पता चलेगा कि जो व्यक्ति सनातन संस्कृति छोड़कर मियां के देवता को पूजता है या मजार आदि जाता है। उसके ऊपर मुसलमान के देवता किस कदर अत्याचार करता है। उसे जीना हराम कर देता है। उसके सुख – चैन, परिवार, प्यार और धन – संपत्ति सब छीन लेता है। उसे मिट्टी में मिलाने में कोई कसर नहीं छोड़ता। आपको अहसास हो जायेगा कि इस्लामिक देवता पूजना मतलब मौत की दावत देना। जिसके भीषण दुष्परिणाम आपके और आपके आने वाली पीढ़ियों को भोगने ही होगा।

Karauli Shankar Mahadev: बाइक बेचकर आया करौली सरकार के दरबार,गंभीर कैंसर का हुआ इलाज/श्रद्धा देखकर बाबा लौटाए 1,00,000/ रूपया।

बाबा करौली सरकार (Baba Karauli Shankar Mahadev) के दरबार में एक युवक अपनी बाइक बेचकर, अपने कैंसर पीड़ित भाई का इलाज करवाने पहुंचा। बाबा, दरबार के प्रति उस युवक की श्रद्धा देखकर बहुत खुश हुए। उन्होंने उसके 1,00,000/ रुपए भी लौटा दिए और उसके भाई को कैंसर से मुक्त  भी कर दिए। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि उसका भाई गंभीर रूप से कैंसर से पीड़ित था। उसे मुंह का कैंसर था। वह बोल नही पाता था। डॉक्टर साहब बोल चुके थे कि जिंदा रखने के लिए तुम्हारे भाई का जीभ काटना होगा। इसलिए उन्होंने घबरा कर बाबा के दरबार आया ताकि बिना किसी खरोच के मतलब शारीरिक नुकसान के उसका भाई पूर्ण स्वस्थ हो जाए।