Skip to content

Karauli Shankar Mahadev: नेपाली दंपती पहुंचा करौली सरकार का दरबार/ पति – पत्नी में बढ़ा प्यार/ तलाक होने की सारी संभावना खत्म

बाबा करौली सरकार (Karauli Shankar Mahadev) सनातन की रक्षा के लिए संकल्पित है। सनातन संस्कृति के मानने वाले सभी लोगो पर बाबा, पुत्र के समान कृपा करते है चाहे वो भारत का हो या किसी विदेशी धरती का। वैसे अपनी – अपनी समस्याओं के मुक्ति के लिए, सभी धर्मो और विभिन्न देशों के लोग बाबा के पास आते है और खुश होकर वापस लौटते है। इसी सिलसिला में एक नेपाली दंपती भी अपना तलाक होने से बचाने के लिए, एक संबंधी के साथ बाबा के दरबार आए। मैं आज उन्ही दंपती की हकीकत कहानी आपको बताने वाला हूं कि किस प्रकार उनदोनो पति – पत्नी में फिर से प्यार कायम हो गया और वे लोग खुश होकर वापस लौटे।। आइए जानते है विस्तार से..

Karauli Sarkar
चिकित्सा करते करौली शंकर महादेव @यूट्यूब

आपसी तलाक रोकने के लिए, नेपाली दंपती आए बाबा के दरबार

रोज की भांति बाबा करौली शंकर महादेव का दरबार लगा और लोग अपनी तकलीफों से मुक्ति के लिए बाबा के पास जाने लगे। बाबा पीड़ित व्यक्तियों से करीब 20 फिट की दूरी पर बैठे रहते है। दोनो तरफ मैक लगी होती है। बाबा जी भी मैक से बोलते है और दरबार आए भक्तगण/फरियादी भी। इसी दौरान मैक पर एक नेपाली व्यक्ति आए। उन्होंने टूटी – फूटी हिंदी में बाबाजी को प्रणाम किया। उसके बाद उसके साथ आई संबंधी महिला की हिंदी अच्छी थी। उन्होंने बाबा से बातचीत शुरू की। उन्होंने बाबा को बताया कि हम लोग नेपाल से आए है। इस व्यक्ति का फरियाद लेकर। ये मेरा बहन का दामाद है।नेपाल में, सरकारी चाकरी करता है। इसकी समस्या है कि इसकी बीबी, इसके साथ नही रहना चाहती हैं। वो इसे तलाक देना चाहती है।इसकी बीबी भी आई है। बोलिएगा तब उसे बुला लेंगे।

Karauli Shankar Mahadev @youtube

बाबाजी बोले: ठीक है, बुला लो उसे। उसकी पत्नी को बुला लिया गया। अब वह भी मैक के पास आ गई। बाबाजी बोले कि आप लोग अपनी दोनो आंखो को बंद करके वही खड़ा रहें। उनलोगो ने ऐसा ही किया। बाबाजी अपनी दिव्य शक्तियों द्वारा दोनो के कष्टों, समस्याओं को सूक्ष्म परीक्षण किए। उसके बाद उन्होंने स्त्री के मन में पति के प्रति घृणा, नापंदगी, सूरत से नफरत, गंजापन और बूढ़ा जैसे लगने की सारी स्मृतियों को नष्ट कर दिए और इसके बदले पति के प्रति प्यार, मोहब्बत, खुशी आदि की भावना भर दिए। उसके बाद बाबाजी दोनो पति -पत्नी को एक – दूसरे का हाथ पकड़ने के लिए बोले। जब दोनो एक – दूसरे का हाथ पकड़े तब बाबाजी पुनः दोनो का गठबंधन कर दिए। दोनो पति – पत्नी में दोनो के प्रति सहानुभूति और आपसी समझ की भावना भर दिए ताकि भविष्य में दोनो एक सुखमय जीवन जी सके। बाबाजी देखे कि दोनो के एक बच्चा भी है और मां उसे नही मानती है। इसके लिए बाबाजी मां के मन में बच्ची के प्रति प्यार भर दिए। इसके बाद बाबाजी आंख खोलकर दोनो को पांच बार “ॐ नमः शिवाय” बोलकर बंधन खींचने के लिए बोले। दोनो बाबा के कहे अनुसार, अपना – अपना बंधन खींचा। उसके बाद बाबा करौली सरकार, उसकी पत्नी से बोले कि अब अपने पति के प्रति कैसा भाव आ रहा है। पति तो पत्नी और बच्चे के मोहब्बत के कारण रोने लगा लेकिन पत्नी बहुत मुश्किल से पति के तरफ देखी।

पति की तरफ देखकर गुस्से से कही कि मुझे इसके साथ नही रहना है। बच्चे के साथ रह लूंगी। बाबाजी बोले ठीक है, ऐसा ही करो। उन्होंने पत्नी में भरी नफरत की भावना को बाहर निकाल दिया और उस व्यक्ति से बोले कि घर में एक हवन जरूर कराना। सब ठीक हो जायेगा। जाओ खुश रहो। इसके बाद पति – पत्नी दोनो बाबाजी को सादर प्रणाम किया और चले गए।

बाबा करौली शंकर महादेव का पता

दरबार: करौली शंकर महादेव कानपुर।

स्थान: कानपुर, उत्तरप्रदेश।

व्हाट्सएप नंबर: 9839861919

1 thought on “Karauli Shankar Mahadev: नेपाली दंपती पहुंचा करौली सरकार का दरबार/ पति – पत्नी में बढ़ा प्यार/ तलाक होने की सारी संभावना खत्म”

  1. Pingback: Karauli Sarkar: विद्यार्थी नव्या कभी बैठ नही पाती थी, बाबा के दरबार में पहली बार बैठी/ रात में अकेले रहने का

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *